महिला हॉकी खिलाडी रानी रामपाल का खेल रत्न के लिए हुआ चयन , रानी रामपाल का संक्षिप्त जीवन परिचय , Indian Hockey Player Rani Rampal selected for Rajeev Gandhi Khel Ratn , Boigraphy of Indian Hockey Player Rani Rampal

 

महिला हॉकी खिलाडी रानी रामपाल का खेल रत्न के लिए हुआ चयन | पता चलते ही आंखे हुयी नम | देश के नाम किया समर्पित 

Hockey player Rani Rampal

संक्षिप्त जीवन परिचय :
रानी रामपाल का जन्म  ४ दिसम्बर १९९४ को हुआ था | बो भारत की मौजूदा हॉकी टीम की खिलाड़ी हैं। वे भारतीय हॉकी की 'रानी' कहलाती हैं। २०१० विश्व कप में भाग लेने वाली भारतीय हॉकी टीम की वे सबसे कम उम्र की (१५ वर्ष) खिलाड़ी थीं। यह भारतीय महिला हॉकी टीम की कप्तान है।

भारतीय हॉकी खिलाड़ी रानी रामपाल ने  15 साल की उम्र में कनाडा में आयोजित विश्व कप 2010 में खेलने वाली सबसे कम उम्र की खिलाड़ी थी, जहां उन्होंने सर्वाधिक 7 गोल किए थे। 2016 में उन्हें भारत सरकार द्वारा अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया गया। 26 जनवरी 2020 को रानी रामपाल को पद्मश्री से सम्मानित किया गया और अब राजीव गाँधी खेल रत्न से सम्मानित किया जा रहा है |


राजीव गाँधी खेल रत्न सम्मान :
शाहाबाद की हॉकी खिलाडी रानी रामपाल का चयन प्रतिष्ठित अवार्ड खेल रत्न के लिए हो गया है | वो देश की पहली महिला हॉकी खिलाडी होगी , जिन्हे इस सम्मान से नवाजा जायेगा | इससे पहले हॉकी पुरुष टीम के दो खिलाड़ियों , धनराज पिल्लई और सरदार सिंह को मिल चुका है | प्रथम महिला हॉकी खिलाडी बनी जिसने  खेल रत्न का अवार्ड जीता है | जानकारी मिलते ही रानी रामपाल के आँखों में ख़ुशी के आँसू छलकने लगे , रानी ने अवार्ड को देश के नाम करते हुए हरियाणा का ताज बताया | उन्होंने पिता के समान सीएम  खट्टर को धन्यबाद कहा और सीएम के बधाई सन्देश को अपने लिए आशीर्वाद बताया | उन्होंने इसे किसी कल्पना से कम नहीं बताया , उन्होंने कहा की सपने में भी नहीं सोचा था की उन्हें इस सम्मान के लिए चयनित किया जायेगा | उन्होंने अपने कोच बलदेव सिंह को भी इसका श्रेय दिया|

शाम ५ बजे मिली आधिकारिक सूचना : 
हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल ने कहा की अवार्ड की चर्चा तो कई दिनों से चल रही थी लेकिन शुक्रबार को उन्हें आधिकारिक जानकारी मिली उनका नाम राजीव गाँधी खेल रत्न के लिए चयनित हुआ है | रानी उनके नाम की सिफारिस करने वालो को भी दिल से धन्यवाद कहा |

Hockey player Rani Rampal


ओलम्पिक जीतने के लिए करेंगे कड़ी मेहनत :
कप्तान रानी रामपाल ने कहा की अब उनका एक ही सपना बचा है ओलिम्पिक में देश के लिए मेडल लाना | इसलिए वो और उनकी टीम जम कर पसीना बहा रही है और कड़ी मेहनत कर रही है | उनका पूरा प्रयास रहेगा की टीम देश के मेडल ले कर आये|

अगर प्रदेश में ए क्लास की नौकरी मिलेगी तो देगी सेवाएं :
हॉकी कप्तान रानी रामपाल ने कहा की अगर प्रदेश सरकार उन्हें किसी भी ए क्लास की नौकरी के केवल समझेगी तो वो इसके लिए अपनी सेवाएं देने के लिए तैयार है | और अपना योगदान देने के लिए तैयार है |




Post a Comment

0 Comments